23-Mar-2019

 राजकाज न्यूज़ अब आपके मोबाइल फोन पर भी.    डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लीक करें

प्रधानमंत्री ने किया देश के सबसे लंबे एक्सट्रा डाज्ड केवल स्टे पुल का उद्घाटन

Previous
Next

भरूच: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज गुजरात के भरूच में नर्मदा नदी पर बने देश के सबसे लंबे एक्स्ट्रा डाज्ड केवल स्टे पुल का उद्घाटन किया। 379 करोड रुपए की लागत से बने 1344 मीटर लंबे इस पुल के उद्घाटन के मौके पर उन्होंने भरूच में एक अत्याधुनिक बस टर्मिनल का शिलान्यास भी किया। उन्होंने केंद्रीय सडक परिवहन मंत्री नीतिन गडकरी, उर्वरक एवं रसायन राजय मंत्री मनसुख मांडविया तथा मुख्यमंत्री विजय रूपाणी उपमुख्यमंत्री नीतिन पटेल की मौजूदगी में राज्य के आठ मार्गों को 12000 करोड रुपए की लागत से राष्ट्रीय राजमार्ग में तब्दील करने की योजना की भी घोषणा की।

पूरे पश्चिम भारत को इस मार्ग से मिलेगी राहत
 इन मार्गो की कुल लंबाई 1200 किमी होगी। इस परियोजना से दुर्घटनाओं पर भी कारगर रोक लगेगी और लोगों को रोजगार भी मिलेगा। उन्होंने कहा कि नए पुल के चालू हो जाने से जाम से पीडित रहने वाले भरूच और पूरे पश्चिम भारत के इस मार्ग को काफी राहत मिलेगी। उन्होंने कहा कि देश में लंबे समय तक परियोजना को पूरा करने की पुरानी संस्कृति में तब्दीली कर इसे निर्धारित सीमा के भीतर पूरा करने की गुजरात से शुरू हुई कार्यसंस्कृति लागू की जा रही है। उन्हें भरूच के औद्योगिक इलाके दहेज को आठ लाख रोजगार वाला तथा पूरे देश का गहना करार दिया।

विकास के लिए  हाईवे के साथ आईवे की भी जरूरत
उन्होंने कहा कि सूरत की तरह भरूच का भी विकास होगा यहां नर्मदा में स्टीमर परियोजना शुरू की जाएगी। मोदी ने कहा कि सही संकल्पना अथवा विजन, नीयत और नीति से सफलता मिल कर रहती है। उन्होंने उत्तर प्रदेश समेत देश के कई हिस्सों में वर्षों से परियोजनाओं के लटके रहने पर अफसोस व्यक्त किया और कहा कि पुरातनपंथी और 20 वीं सदी की सोच के साथ 21 वीं सदी के अनुरूप विकास नहीं हो सकता। विकास के लिए हाईवे के साथ ही आईवे यानी इन्फार्मेशन वे की भी जरूरत है। उन्होंने इस मौके पर अपनी सरकार की सागरमाला और भारतमाला परियोजना की भी चर्चा की।

कांग्रेस के पास सरकार चलाने की कोई जानकारी नहीं
उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार के पास सरकार चलाने के लिए कई जानकारी ही नहीं थी। इसके समय में मार्च 2014 तक कागज में उल्लेखित सवा लाख गांवों की जगह मात्र 59 गांव में आप्टिल फाइबर बिछाया जा सका था। उनकी सरकार ने अब तक 68 हजार गांवों को इससे जोडा है और ढाई लाख गांवों का लक्ष्य तय किया है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने देश के द्वीपों के बारे में वैज्ञानिक जानकारी जुटाई है और कुल 1300 में से 200 को विकसित करने का काम शुरू किया है।
रूपाणी ने कहा कि पिछली सरकार में द्वीपो की संख्या के बारे में भी जानकारी नहीं थी। उनकी सरकार आजादी के 75 वर्ष पूरे होने पर 2022 तक सभी लोगों को आवास उपलब्ध करने की दिशा में काम कर रही है। प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार के कार्यकाल के दौरान प्रतिदिन सडक निर्माण का कार्य पहले के दो किमी की तुलना में 11 गुना बढ कर 22 किमी तथा रेल पटरी निर्माण/अमान परिवर्तन का काम सालाना 1500 किमी से दोगुना यानी 3000 किमी हो गया है। रेलवे स्टेशनों के आधुनिकीकरण का भी काम हो रहा है।

ये हैं ब्रिज की खास बातें
- यह देश का सबसे लंबा ब्रिज है। इसकी लंबाई 1344 मीटर है और चौड़ाई 20.8 मीटर है।
- टॉवर Y शेप में बने हैं और इनकी संख्या 10 हैं। सभी की ऊंचाई 18 मीटर है। इन पर
216 केबल लगे हैं, हरेक केबल की लम्बाई 25 से 40 मीटर है।
-  ब्रिज पर 17. 4 मीटर चौड़ी 4 लेन रोड है। फुटपाथ (रिवर व्यू) 3 मीटर का है।
-  अक्तूबर 2014 में इसके बनने का काम शुरू हुआ था।
- इस ब्रिज को बनने में करीब 379 करोड़ रुपए खर्च हुए।
-ब्रिज शुरू होने से अहमदाबाद-मुंबई नैशनल हाईवे-8 पर भरूच में लगने वाले जाम से निजात मिलने की उम्मीद है।
- इसमें लाइटिंग इंटरनैशनल स्टैंडर्ड की की गई है। करीब 1.344 किलोमीटर तक लाइटिंग है।
-  इस ब्रिज पर 400 से ज्यादा एलईडी लाइट्स लगाई गई हैं।

साभार- पंजाब केसरी

Previous
Next

© 2015 Rajkaaj News, All Rights Reserved || Developed by Workholics Info Corp


Warning: Invalid argument supplied for foreach() in /srv/users/serverpilot/apps/rajkaaj/public/news/footer1.php on line 120
Total Visiter:0

Todays Visiter:0