23-Jul-2018

 राजकाज न्यूज़ अब आपके मोबाइल फोन पर भी.    डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लीक करें

नोटबंदी के नाम पर रजिस्ट्री कार्यालय में हो रहा है कालेधन का सफेद करने का धंधा: जे.पी. धनोपिया

Previous
Next

भोपाल 02 दिसम्बर। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता जे.पी. धनोपिया ने कहा है कि 8 नवम्बर को 500 एवं 1000 के नोटों को प्रचलन से बंद करने के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के फरमान के बाद देश में अफरा तफरी का माहौल बना हुआ है। गरीब और मध्यम परिवार के लोग परेशान हो रहे हैं। हालात यह है कि केंद्र सरकार के निर्णय अनुसार कुछ महत्वपूर्ण स्थानों पर पुराने नोटों को एक निश्चित अवधि तक स्वीकार किया जाना है, जिसमें 15 दिसम्बर तक शासकीय कार्यालय जहां संपत्ति की रजिस्ट्री आदि होती है, वहां पुराने नोटों को पंजीयक द्वारा स्वीकार नहीं किया जा रहा है, जिसमें आम जनता बहुत परेशान हो रही है।

धनोपिया ने विज्ञप्ति जारी करते हुये कहा कि नोटबंदी के बाद जिन-जिन स्थानों पर पुराने नोटे 500 एवं 1000 के स्वीकार किये जाना है, उसकी अधिसूचना में क्रमांक ‘ओ’ पर स्पष्ट उल्लेखित है कि पंजीयक शुल्क एवं कोर्ट फीस तथा शासकीय शुल्क के रूप में पुराने नोट स्वीकार होंगे, लेकिन प्रदेश में रजिस्ट्री कार्यालयों में इस संबंध में बड़ा घोटाला किया जा रहा है, कि लोगों से पुराने नोेट फीस या शुल्क के रूप में स्वीकार नहीं किये जा रहे हैं एवं गरीब जनता के कार्यों को पूर्ण नहीं किया जा रहा है। वहीं इसके विपरीत रजिस्ट्री कार्यालयों से लाखों रूपये पुराने नोट 500 एवं 1000 के रूप में ट्रेजरी में जमा हो रहे हैं, इससे साफ है कि एक बड़ा घोटाला रजिस्ट्री कार्यालय में हो रहा है, शायद कमीशन पर नये नोट बदलकर पुराने नोटों को शासकीय कोषालय में जमा किया जा रहा है, जिसकी निष्पक्ष जांच कराकर दोषियों के विरूद्व कड़ी कार्यवाही की जाये।

Previous
Next

© 2015 Rajkaaj News, All Rights Reserved || Developed by Workholics Info Corp

Total Visiter:6135802

Todays Visiter:3813