16-Nov-2018

 राजकाज न्यूज़ अब आपके मोबाइल फोन पर भी.    डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लीक करें

उस शब्द का इस्तेमाल नहीं करना चाहता, जो स्मिथ ने किया: विराट कोहली

टीम इंडिया ने बुधवार को बेंगलुरु के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम पर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार मैचों की सीरीज के दूसरे टेस्ट में 75 रनों से जीत दर्ज की। इस जीत के साथ ही टीम इंडिया ने सीरीज में 1-1 की बराबरी हासिल कर ली है। मैच के बाद हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में विराट ने ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ को आड़े हाथों लिया। आउट होने पर रिव्यू के लिए ड्रेसिंग रूम की तरफ से मदद के लिए देखने के लिए स्मिथ की काफी आलोचना हो रही है।

विराट ने ऑस्ट्रेलिया पर आरोप लगाया कि उसने डीआरएस पर तमाम हदें पार कर दी हैं। विराट की माने तो बेंगलुरु टेस्ट में ऑस्ट्रेलियाई टीम ने कम से कम तीन मौकों पर डीआरएस पर कोई फैसला करने से पहले अपने ड्रेसिंग रूम की मदद ली। विराट ने मैच के बाद कहा कि उन्होंने इससे पहले दो मौकों पर भी अंपायरों को इस बारे में आगाह किया था जबकि तीसरा मामला तो मैच के चौथे दिन सभी ने खुलकर देखा।

स्मिथ को लक्ष्य का पीछा करते हुए जब एलबीडब्ल्यू आउट करार दिया गया था तो उन्होंने अपने साथी पीटर हैंड्सकॉम्ब से बात करने के बाद ड्रेसिंग रूम की तरफ देखा था कि डीआरएस लिया जाए या नहीं। अंपायर नाइजेल लोंग ने तब तुरंत हस्तक्षेप करते हुए स्मिथ को वापस पवेलियन भेजा था और विराट को इस मामले में कूदने से रोक दिया था।

विराट ने कहा, 'मैंने पहले भी दो मौकों पर ऐसा होते देखा था जब मैं बल्लेबाजी कर रहा था। मैंने तब यह बात अंपायर को बताई थी। मैंने देखा था कि ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ड्रेसिंग रूम की तरफ पुष्टि के लिए देख रहे हैं। यही कारण था कि अंपायर ने स्मिथ को टोका। अंपायर जानते थे कि क्या हो रहा है।'

विराट ने कहा, 'जब स्मिथ मुड़कर देख रहे थे तो अंपायर को पता चल गया था कि क्या हो रहा है। हमने यह बात मैच रेफरी को भी बताई है। वे ऐसा पिछले तीन दिनों से कर रहे थे और इसे रोका जाना चाहिए। क्रिकेट मैदान पर एक सीमा होती है जिसे आप पार नहीं कर सकते। स्लेजिंग एक अलग मुद्दा है लेकिन यह एक ऐसी बात है जिसपर मैं एक शब्द का इस्तेमाल नहीं करना चाहता। मैं ऐसा कभी क्रिकेट के मैदान पर नहीं करूंगा।'

यह पूछने पर कि क्या यह शब्द 'बेईमानी' है तो विराट ने कहा, 'मैंने ये शब्द नहीं कहा, आपने कह दिया।' विराट से पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस में स्मिथ का बयान कुछ अलग था। स्मिथ ने कहा था, 'मेरे पैड पर गेंद लगी और मैंने हैंड्सकॉम्ब की तरफ देखा। उसने मुझसे कहा कि वहां देखो। इसलिए मैं पीछे मुड़कर देखने लगा। मुझे ऐसा नहीं करना चाहिए था। उस समय शायद मेरे दिमाग ने काम नहीं किया।'

विराट ने स्मिथ की इस सफाई को मानने से इनकार कर दिया। विराट ने कहा, 'ईमानदारी से कहूं, अगर आप बल्लेबाजी करते समय कोई गलती करें तो तब कह सकते हैं कि दिमाग ने काम नहीं किया। जैसा मैंने पुणे में गेंद छोड़कर किया था और एलबीडब्ल्यू आउट हुआ था। उसे कहते हैं कि दिमाग ने काम नहीं किया। लेकिन जो चीज तीन दिनों से हो रही हो उसे आप नहीं कह सकते कि दिमाग ने काम नहीं किया।'

भारतीय कप्तान ने साथ ही कहा, 'मैं इस मुद्दे पर ज्यादा कुछ नहीं कहना चाहता। वीडियो सबके सामने है और आप खुद देख सकते हैं। ये बार-बार हो रहा था और अंपायर जानते थे कि ये फिर होगा।' बीसीसीआई के आधिकारिक ट्विटर पर स्मिथ के आउट होने का वीडियो डाला गया है जिसके साथ डीआरएस के लिए लिखा गया है कि क्या इसे ड्रेसिंग रूम रिव्यू सिस्टम कहें।

स्मिथ ने इस बात से इनकार किया कि उनकी टीम डीआरएस के लिए ड्रेसिंग रूम से मदद लेती है। उन्होंने जोर देकर कहा, 'मेरे आउट होने पर मैंने पहली बार ड्रेसिंग रूम की तरफ देखा। ऐसा पहली बार ही हुआ था। शायद उस समय मेरे दिमाग ने आउट होने के बाद सोचना बंद कर दिया था।' पूरे मैच के दौरान दोनों टीमों के खिलाड़ियों के बीच स्लेजिंग चलती रही। लेकिन स्मिथ ने माना कि मैच अच्छी खेल भावना के साथ खेला गया और मुकाबला शानदार रहा।

साभार: लाइव हिंदुस्तान

Previous
Next

© 2015 Rajkaaj News, All Rights Reserved || Developed by Workholics Info Corp

Total Visiter:6861948

Todays Visiter:2799