10-Dec-2018

 राजकाज न्यूज़ अब आपके मोबाइल फोन पर भी.    डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लीक करें

शौर्य, साहस, निर्माण और निर्भीकता की पर्याय थी इंदिरा जी: अरूण यादव

Previous
Next

कांग्रेस मुख्यालय में 100 वीं जयंती पर कांग्रेसजनों ने मनाया शताब्दी वर्ष
आधुनिक भारत का निर्माण करने वाले नेहरू-गांधी परिवार के
बलिदान को मिटाने की कूटनीति कर रही है भाजपा 

भोपाल 19 नवम्बर। प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय प्रांगण में आज ‘भारत रत्न’ पूर्व प्रधानमंत्री स्व. श्रीमती इंदिरा गांधी का 100 वां वर्ष जन्म शताब्दी कार्यक्रम मनाया गया। सर्वप्रथम प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरूण यादव, उपाध्यक्ष राजा पटेरिया, महामंत्री पी.सी. शर्मा ने श्रीमती इंदिरा गांधी की आदमकद प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं पुष्प अर्पित किये। कार्यक्रम में प्रदेश कांग्रेस के पदाधिकारियों सहित सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे, जिन्होंने बड़े उत्साह के साथ इंदिराजी के जीवन स्मरण पर वक्ताओं द्वारा डाले गये प्रकाश को बड़े ध्यानपूर्वक सुना।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरूण यादव ने कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए श्रीमती इंदिराजी के जीवन पर प्रकाश डाला। श्री यादव ने शौर्य, साहस, निर्माण और निर्भीकता का पर्याय बताते हुए अपने संबोधन में कहा कि देश में प्रियदर्शिनी के नाम से प्रख्यात श्रीमती इंदिरा गांधी ने देश के लिए कई नये आयाम दिये है, जिससे आज देश महाशक्ति के रूप में खड़ा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के हिटलरशाही नोटबंदी के फरमान से देश में हाहाकार मचा हुआ है, लोग शादी-ब्याह, रोजमर्रा की चीजों, इलाज के लिए पैसे नहीं होने के कारण भयावह दौर से गुजर रहे हैं, मजदूर अपनी मजदूरी छोड़कर मात्र 2000 रूपये निकालने के लिए दो-दो दिन तक बैंक की लंबी लायन में खड़ा हुआ है, कई लोग अकाल मौत के शिकार हो गये हैं। उन्होंने कहा कि देश में बैंकों का राष्ट्रीयकरण कर लोगों के पैसों को सुरक्षित करने का काम श्रीमती इंदिरा गांधी ने किया था, किन्तु आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लोगों की खून पसीने की कमाई को भी छीन लिया है। श्री यादव ने कहा कि हमें इंदिरा जी के कार्यक्रमों, नीतियों को गांव के अंतिम व्यक्ति तक ले जाना होगा, अजा, अजजा, पिछडे़ वर्ग को आगे बढ़ाने का श्रेय श्रीमती इंदिरा जी को ही जाता है। उन्होंने कहा कि देश की फासिस्टवादी ताकतें और भाजपा का शीर्ष नेतृत्व आधुनिक भारत का निर्माण करने वाले नेहरू-गांधी परिवार के बलिदान को मिटाने की कूटनीति कर रही हैं।

इस अवसर पर विधानसभा के उपाध्यक्ष राजेन्द्रसिंह ने श्रीमती इंदिराजी का स्मरण करते हुए कहा कि अवसर कैसा भी हो हमें विचलित नहीं होना चाहिए, श्रीमती गांधी ने आम लोगों के लिए बैंकों के दरवाजे खोले, आज मोदी ने दरवाजे बंद कर दिये, इंदिराजी ने लोंगों को 20 सूत्रीय कार्यक्रम से जोड़ा, गरीबों को जमीनें बांटी, विकास की गति में महती भूमिका निभाई। श्रीमती गांधी ने कहा था कि मेरे रहते धर्म निरपेक्षता पर प्रश्न चिन्ह नहीं लगना चाहिए, इसके लिए मुझे चाहे जो भी कीमत क्यों न चुकानी पड़े। उन्होंने कहा कि धैर्य, साहस न खोये, प्रेरणाा लेने का अवसर है।

पूर्व मंत्री एवं प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष राजा पटेरिया ने श्रीमती इंदिरा गांधी का स्वमरण करते हुए कहा कि आज देश में गांधी-नेहरू परिवार को गलत बताकर उनके व्यक्तित्व और कृतित्व को गिराने का कार्य किया जा रहा है। देश जब दो तिहाई सूखे के दौर से गुजर रहा था और लाल गेहूं हमारे मुल्क में मिलता था, तब श्रीमती इंदिरा जी ने हरित्र क्रांति लाने का फैसला किया और देश के लोगों को अन्न उपलब्ध कराया। कोल माईंस, स्टील प्लांट, बैंकों का राष्ट्रीयकरण जैसे कई बड़े निर्णय इंदिरा जी ने लिये थे। उन्होंने कहा कि यदि हम तर्कों के साथ मजबूत होकर खड़े हो जाये तो जनसंघ-भाजपा से डरपोक कोई भी पार्टी नहीं है।

विधायक मुकेश नायक ने पूर्व प्रधानमंत्री स्व. श्रीमती इंदिरा गांधी का स्मरण करते हुए कहा कि देश के किसी भी नेता में ऐसी क्षमता नहीं थी जो श्रीमती इंदिरा गांधी में थी। आज देश को आजादी दिलाने वाले, आधुनिक भारत के निर्माता, महान बलिदानी नेताओं पर फासीवादी ताकतों द्वारा प्रश्न-चिन्ह लगाये जा रहे। लोगों की खून-पसीने की गाढ़ी कमाई के 14 लाख करोड़ की मुद्रा को प्रधानमंत्री द्वारा कागज का टुकड़ा बताया जा रहा है, फासिस्टवादी ताकतों द्वारा पूरे देश में अराजकता का माहौल निर्मित किया जा रहा है। कांग्रेस पार्टी के नेतृत्व में भारत फिर दुनिया का शक्तिशाली राष्ट्र बने हमें संकल्प नेता होगा।     

प्रख्यात वक्ता वरिष्ठ पत्रकार विजयदत्त श्रीधर एवं लज्जा शंकर हरदेनिया ने बड़े ही सरल और सुदृढ़ तरीके से उपस्थित कांग्रेसजनों को श्रीमती इंदिरा गांधी के जीवन पर प्रकाश डालते हुए उनके विचार, कार्यशैली, निर्भीकता, दृढ़ संकल्प, इच्छाशक्ति, विश्वसनीयता, देश निर्माण के कार्याें से अवगत कराया। कार्यक्रम का संचालन संगठन प्रभारी महामंत्री चंद्रिका प्रसाद द्विवेदी ने किया तथा आभार प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री पी.सी. शर्मा ने व्यक्त किया।

कार्यक्रम में अशोक सिंह, डॉ. शशि राजपूत, मर्शरत साहिदयोगेश यादव, प्रभुराम चौधरी, मुजीब कुरैशी, मो. सगीर, केप्टन व्ही.पी.सिंह, मंचासीन थे। ओम रघुवंशी, कैलाश मिश्रा, मुख्य प्रवक्ता के.के. मिश्रा, प्रवक्ता जे.पी. धनोपिया, रवि सक्सेना, श्रीमती विभा पटेल, त्रिलोक दीपानी, दुर्गेश शर्मा, दीप्तिीसिंह, संगीता शर्मा, वरिष्ठ कांग्रेस नेता अशोक जैन भाभा, पूर्व महापौर दीपचंद यादव, पूर्व महामंत्री राजकुमार पटेल, मुजीब कुरैशी, भूपेन्द्र गुप्ता, सचिव लोकमन कुशवाहा, जितेन्द्रसिंह बघेल, रईसा मलिक, सेवादल के गन्नू तिवारी, मुईनउद्दीन सिद्वीकी, मिर्जा नूर बेग, मो. सलीम, दिनेश साहू सहित सैकड़ों की संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता कार्यक्रम में उपस्थित थे।

कांग्रेस मुख्यालय के कार्यक्रम के प्रश्चात् प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरूण यादव राजधानी के कोलार रोड स्थित सर्वधर्म कॉलानी के ‘‘अपना-घर’’ गये जहां बुजुर्गों से बातचीत की तथा फल वितरित किये। यादव ने त्रिलांगा स्थित राजीव गांधी कॉलेज पहुंच कर वहां के विद्यार्थियों को भी श्रीमती इंदिरा जी के जीवन वृतांत पर अपना उद्बोधन दिया।

Previous
Next

© 2015 Rajkaaj News, All Rights Reserved || Developed by Workholics Info Corp

Total Visiter:7009458

Todays Visiter:1822