20-Sep-2018

 राजकाज न्यूज़ अब आपके मोबाइल फोन पर भी.    डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लीक करें

पेट की गैस से होने वाली परेशानी को ऐसे करे दूर

Previous
Next
आमतौर पर गर्मी के दिनों में जरा-सी भी लापरवाही और अनियमि‍त खान-पान से पेट में गैस बन जाती है। अक्सर बाहर काम करने वाले लोगों के साथ भी यह समस्या जरूर रहती है कि उनके पेट से आ रही गंदी गैस सबको परेशान करती है.

अब इसमें उस व्यक्ति की बस यही गलती होती है कि वह अपने पेट को समझ नहीं पा रहा होता है. पेट का भोजन सड़ने लगता है जिसकी वजह से पेट की गैस की समस्या बनती है. तो ऐसे में क्या भोजन छोड़ देने कोई हल नहीं है. हाँ बाहर का भोजन कम करें और साथ ही साथ यह देशी घरेलू उपायों को करने से आपको पेट की गैस की समस्या से आजादी मिल सकती है-

1. सुबह उठने पर नींबू-नमक पानी

आपको अगर पेट की गैस की समस्या रहती है तो ऐसे में आप सुबह उठते ही नींबू पानी पीने की आदत डाल लें. आगे आप चाय पीते हैं तो सबसे पहले उसको पीना छोड़ दे. चाय पीने वाले व्यक्ति का पेट खराब ही रहता है. चाय को छोड़ने के बाद आप सुबह नींबू पानी की आदत डाल दें. गुनगुने पानी के साथ नींबू का उपयोग और अच्छा होता है.

2. हींग पानी या हींग का उपयोग

दिन में आप अगर बहुत ही ज्यादा बाहर का खाना खाते हैं तो अब आप दिन में एक बार हींग को या तो पानी में घोल कर पी जायें या खाने में इसकी मात्रा बढ़ा दें. बच्चों को अगर पेट पर हींग का लेप ही लगाया जाये तो लाभ मिलता है.

3. रात्रि भोजन

अब दिन भर आप उल्टा सीधा खाते हैं तो रात के समय आप हल्का खाना खायें. मात्र उबली दाल, या बहुत ही कम मसालेदार खाने का उपयोग करें.

4. छाछ का उपयोग दोपहर में

दोपहर के समय अगर आप छाछ का उपयोग करते हैं तो इससे आपके पेट को काफी लाभ प्राप्त हो सकता है. पेट में बनने वाले तेजाब को भी यह शांत रखता है.

5. लहसन रामबाण ईलाज

पेट की गैस से परेशां हैं तो रोज लहसन की तीन-चार कलियाँ लें और उन्हें आग पर भूंज लें. तब छीलकर इनको खा जाएं. ऐसा निरंतर करने से आपका पेट सही रहने लगेगा.

तो जिनको पेट की गैस की समस्या है वह तो इन उपायों को जरूर आजमायें. साथ ही साथ एक आम व्यक्ति भी पेट की आधी बिमारियों से राहत पाने के लिए इन उपायों को जरूर आजमायें.


Previous
Next

© 2015 Rajkaaj News, All Rights Reserved || Developed by Workholics Info Corp

Total Visiter:6512667

Todays Visiter:1525