25-Jun-2018

 राजकाज न्यूज़ अब आपके मोबाइल फोन पर भी.    डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लीक करें

प्रदेश कार्यसमिति की दो दिवसीय बैठक 10 जनवरी से सागर में

Previous
Next

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश कार्यसमिति की आगामी दो दिवसीय बैठक 10 जनवरी को प्रातः 10.30 बजे सागर मकरोनिया नाका स्थित होटल दीपाली रेसीडेंसी में आयोजित की जायेगी। बैठक का समापन 11 जनवरी को अपरान्ह होगा। बैठक में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व प्रदेश संगठन प्रभारी डॉ. विनय सहस्रबुद्धे और मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान मार्गदर्शन करेंगे।

अध्यक्षता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद नंदकुमारसिंह चौहान करेंगे। बैठक के पूर्व उसी स्थल पर प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक 10 जनवरी को प्रातः 9 बजे आयोजित की जायेगी। बैठक में पार्टी के कार्यसमिति के अलावा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष, पार्टी के जिला अध्यक्ष, प्रकल्प और विभाग प्रमुख तथा संगठन मंत्री भाग लेंगे। बैठक में पिछली कार्यसमिति की कार्यवाही की पुष्टि, आगामी कार्यक्रमों की रूपरेखा पर विस्तार से चर्चा होगी।

पर्यटन उद्योग से समृद्धि,  हनुवंतिया के विश्व मानचित्र पर आने से देश को विदेशी मुद्रा मिलेगी- नंदकुमार

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद नंदकुमारसिंह चौहान ने कहा कि विश्व के कई देश पर्यटन उद्योग के बल पर गुरवत से बाहर आ गए है। पर्यटन उद्योग से संपन्नता हासिल कर ली है। विश्व में भारत ही ऐसा समृद्ध देश है जहां प्रकृति और इतिहास ने विरासत के रूप में प्रचुर भंडार दिया है जो विश्व स्तर पर पर्यटकों के आकर्षण का केन्द्र है। प्राकृतिक सौन्दर्य, नयनाभिराम वन, वन्य प्राणी, कलकल बहती नदियां, मठ मंदिर सभी भारत में पर्यटन की दृष्टि से बेजोड़ है। मध्यप्रदेश सरकार ने इस दिशा में नर्मदा तट पर हनुवंतिया का विश्व पर्यटन स्थल के रूप में विकास कर वास्तव में दूरदर्शी सोच प्रदर्शित किया जिससे देश विदेश के पर्यटक आकर्षित होकर आयेंगे। इससे पर्यटन उद्योग को गति मिलेगी। विदेशी मुद्रा प्राप्त होगी।

उन्होंने कहा कि पर्यटन विकास के रूप में हनुवंतिया के विकसित होने से जहां पर्यटन उद्योग सरसब्ज होगा वहीं नर्मदा मां की गरिमा के प्रति जन जागरूकता बढेगी और स्वच्छ भारत की कल्पना साकार करने में मदद मिलेगी, क्योंकि पर्यटन के साथ स्वच्छता हमेशा एक मुद्दा रहा है। यदि इस दृष्टि से गंगा माता के तटवर्ती केन्द्रों को विकसित किया जाता तो स्वच्छता बोध हमारी आदत में शुमार हो जाता। गंगा स्वच्छता अभियान की आवश्यकता ही नहीं पड़ती। पर्यटन के साथ आंचलिक कुटीर उद्योगों को भी बल मिलता है जिससे इस आंचलितका को सहेजने संवारने की ओर विशेष रूचि और प्रयास होते है। इस दृष्टि से मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने दूरदृष्टि का परिचय देकर भोपाल की विरासत स्थापत्य कला के रूप में ताजमहल और अन्य स्थल, विंध्य क्षेत्र, बुन्देलखण्ड के किलो, महलों, पुरा संपदा को पर्यटन के आकर्षण के रूप में सहेजने का विशेष प्रोत्साहन देकर मध्यप्रदेश के पर्यटन स्थलों को विश्व मानचित्र पर लाने के प्रयास किए है। पर्यटन विकास निगम के अध्यक्ष तपन भौमिक ने पर्यटकों की आवागमन निवास सुविधा पर ध्यान केन्द्रित किया है, जिससे प्रदेश राष्ट्रीय पर्यटन के सर्किट में मुख्य केन्द्र बनने जा रहा है। पर्यटकों के लिए आवागमन सहज करने के लिए वायुसेवा मार्ग खुलेंगे। रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।

चौहान ने पर्यटन विकास निगम की महत्वाकांक्षी योजना की सराहना करते हुए कहा कि पिछले वर्षो तक पर्यटन समाजवादी शासकों की सीमित सोच से पिछड़ा है, क्योंकि वामपंथी सोच मानता है कि पर्यटन विकास के लिए नहीं सिर्फ समृद्ध समाज का शौक है, लेकिन निरपेक्ष दर्शकों और चिंतकों सामान्य जिज्ञासुओं के लिए पर्यटन स्वास्थ्य लाभ, मनोरंजन के साथ सोचने समझने का भी साधन है। पर्यटन से देश विदेश के पर्यटक भावनात्मक एकता के सूत्र में गुम्फित होंगे। इस दृष्टि से मध्यप्रदेश देश ही नहीं दुनिया में बेजोड़ है। पर्यटन विकास की पहली आवश्यकता स्वच्छता है। इस दृष्टि से भी पर्यटन विकास स्वच्छ भारत के संदेश का संवाहक सिद्ध होगा।

Previous
Next

© 2015 Rajkaaj News, All Rights Reserved || Developed by Workholics Info Corp

Total Visiter:5951792

Todays Visiter:3591