05-Jun-2020

 राजकाज न्यूज़ अब आपके मोबाइल फोन पर भी.    डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लीक करें

एमपी शिवराज सरकार: बहुमत किया साबित, प्रदेश को दिया नया मुख्‍य सचिव

Previous
Next

नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के इस्‍तीफे में हुई बड़ी चूक

जगदीश देवड़ा प्रोटेम स्‍पीकर, किदवई बने आयुक्‍त किदवई

भोपाल, 24 मार्च, मध्‍यप्रदेश में सत्‍तासीन हुए शिवराज सिंह चौहान ने कल देर रात्रि में कोरोना की समीक्षा की। इसके बाद विश्‍वास मत प्रस्‍ताव पेश करने का निर्णय लिया। मंगलवार को विधानसभा समवेत हई। सदन में बीजेपी के विधायक ही मौजूद रहे, और शिवराज सरकार ने बहुमत प्रस्‍ताव को हासिल कर लिया। इस दौरान कांग्रेस का एक भी विधायक सदन में मौजूद नहीं था। सपा, बसपा और निर्दलीय विधायकों ने विश्‍वासमत के समर्थन में वोट किया। बता दें कि सपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने कांग्रेस का समर्थन करने की बात कही थी। इसके बावजूद उनकी पार्टी के विधायक ने शिवराज के समर्थन में वोट किया। सभापति देवड़ा ने विश्वास मत प्रस्ताव पारित होने के बाद सदन की कार्यवाही 27 मार्च, शुक्रवार को सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी। उधर राज्‍यपाल लालजी टंडन ने पूर्व में ही जगदीश देवड़ा को प्रोटेम स्‍पीकर नियुक्‍त कर दिया था।
इसके बाद मंत्रालय में प्रशासनिक मुखिया को बदल दिया गया। नये मुख्‍य सचिव के रूप में 1985 बैच के इकबाल सिंह बैंस को आगामी आदेश तक नियुक्‍त किया गया है। अभी एम गोपाल रेड्डी की नई पदस्‍थापना का आदेश जारी नही हुआ है। उधर, नेता प्रतिपक्ष रहे गोपाल भार्गव से इस्‍तीफा देने में चूक हो गयी। उन्‍हें इस्‍तीफा विधानसभा अध्‍यक्ष को सौंपना था, लेकिन जल्‍दबाजी में उन्‍होंने प्रमुख सचिव को संबोधित करते हुए सौंप दिया।
मध्यप्रदेश विधानसभा में मंगलवार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की ओर से पेश किए गए विश्वास मत प्रस्ताव को सर्वसम्मति से स्वीकृति प्रदान की गयी। इसके साथ ही एक दिन पुरानी चौहान सरकार ने सदन में बहुमत साबित कर दिया। इस दौरान कांग्रेस का एक भी विधायक मौजूद नहीं रहा। चौहान ने विशेष सत्र के पहले दिन सदन की कार्यवाही प्रारम्भ होने के बाद विश्वास मत पेश किया, जिसे आसंदी पर आसीन सभापति जगदीश देवड़ा ने पारित कराने के लिए मतदान की औपचारिकता करायी। मतदान में विश्वास मत को ध्वनिमत के जरिए सर्वसम्मति से पारित कर दिया गया।
इसके पहले चौहान ने अपने संबोधन में कहा कि राज्यपाल ने सरकार को पंद्रह दिनों के अंदर सदन में बहुमत साबित करने के लिए कहा था, इसलिए वे विश्वास मत पेश कर रहे हैं। साथ ही चौहान ने कहा कि उनकी सरकार की सबसे पहली प्राथमिकता मौजूदा हालातों में कोरोना वायरस के प्रकोप को रोकना है। इस दिशा में कल उन्होंने मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद ही आवश्यक कदम उठाना प्रारंभ कर दिए हैं।
इधर, पूर्व जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने कहा है कि शिवराज सिंह पहले 25 सीटों पर चुनाव हो जाने दें उसके बाद विश्‍वास मत हासिल करें। दोपहर में पूर्व मुख्‍यमंत्री कमलनाथ ने मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निवास पर जाकर मुलाकात की।

Previous
Next

© 2015 Rajkaaj News, All Rights Reserved || Developed by Workholics Info Corp


Warning: Invalid argument supplied for foreach() in /srv/users/serverpilot/apps/rajkaaj/public/news/footer1.php on line 120
Total Visiter:0

Todays Visiter:0