21-Nov-2019

 राजकाज न्यूज़ अब आपके मोबाइल फोन पर भी.    डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लीक करें

एम पी का जन मोहल्ला समितियों को ढूंढ रहा, शिवराज दस वर्षो में भी नहीं कर सकें गठन: शोभा ओझा

Previous
Next

भोपाल, 20 जून 2019, मध्यप्रदेश कांग्रेस मीडिया विभाग अध्यक्ष श्रीमती शोभा ओझा ने राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चैहान की वादा खिलाफी और 10 वर्षों तक मोहल्ला समितियों का गठन न करने और उसे भूल जाने को लेकर बड़ा हमला बोला। उन्होंने कहा कि शिवराजसिंह चैहान को मोहल्ला समितियों के गठन की माननीय न्यायालय के निर्देष के बाद भी याद नहीं आई और न ही उसमें कोई विशेष पहल की या रूचि ली।
श्रीमती ओझा ने कहा कि राज्य में मोहल्ला समितियों के गठन को लेकर मध्यप्रदेश राजपत्र (असाधारण) में नाॅटिफिकेशन नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग मध्यप्रदेश शासन द्वारा 01/06/2009 को जारी किया गया था। तब से लेकर अब तक यानि 10 वर्षाें तक षिवराज सरकार मोहल्ला समितियों का गठन नहीं कर सकी। अब उन्हें इसकी चिंता सता रही है। राज्य के नागरिक मोहल्ला समितियों को ढूंढ़ रहें है।
श्रीमती ओझा ने कहा कि जब मोहल्ला समितियों के गठन का विचार आया था तब कहा गया था कि मोहल्ला समिति अपराधियों पर नजर रखेगी, पुलिस को भी ताकत और आंख, कान बनायेगी। इसके अलावा शहर में होने वाले विकास कार्यो में भी भूमिका निभाएंगी, धंाधली को रोकेगी, भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाएगी यह सब कागजों पर तो हुआ लेकिन धरातल पर कुछ भी नहीं हुआ। यह है शिवराज के मोहल्ला समितियों के राग का कढ़वा सच।
श्रीमती ओझा ने कहा कि शिवराज सिंह चैहान मोहल्ला समितियों के गठन को लेकर अपने कार्यकाल में इसलिए गंभीर नहीं हुए क्योंकि उन समितियों में जनता की भागीदारी जरूरी थी, भाजपा नेताओं की नहीं। उन्होंने मोहल्ला समितियों के गठन में इसलिए भी रूचि नहीं ली, क्योंकि इन समितियों के द्वार क्षेत्र की जरूरत के हिसाब से विकास कार्य भी तय करने जैसे विषयों को शामिल करना था।
श्रीमती ओझा ने कहा कि शिवराजसिंह चैहान मोहल्ला समितियों के गठन के नाम पर राजनैतिक रोटि़या सेकना चाहते हैं। महौल्ला समितियों के गठन को लेकर वे कभी भी गंभीर नहीं रहे। उनके शासनकाल में विभाग के मंत्री और सामाजिक संगठन और माननीय न्यायालय द्वारा बार-बार कहा गया, लेकिन उनके कांन पर जू तक नहीं रंेगी। सच यह है कि शिवराजसिंह चैहान कि जब राज्य में सरकार थी, तो एन.सी.आर.बी के आंकड़ो के मुताबिक मध्यप्रदेश में हर रोज नाबालिगों के साथ बलात्कार की 23 घटनायें होती रहीं। बलात्कार की घटनाओं के मामले में मध्यप्रदेश देश में पहले नम्बर पर था।
श्रीमती ओझा ने कहा कि शिवराजसिंह चैहान को मालूम है कि 12 साल के कम उम्र की बच्ची के साथ रेप करने का दोषी पाए जाने पर गुनहगारों को सजा दिए जाने का सख्त कानून मध्यप्रदेष में है, इसी के तहत गुनहगारों पर कार्यवाही करने का प्रावधान है। जब शिवराजसिंह चैहान ने कम उम्र की बच्चियों के साथ बलात्कार की घटनाओं के संबंध में भारत के मुख्य न्यायधीश श्री दीपक मिश्रा को 02/07/2018 को पत्र लिखकर फास्ट ट्रेक कोट बनाने और ऐसे मामलों को जल्द से जल्द निपटाने की मांग की थी, फिर इस प्रकार के संवेदनशील मामलों में राजनीति क्यों कर रहें हंै। तीन बार के मुख्यमंत्री को यह शोभा नहीं देता, जबकि वे विधानसभा में एवं अनेक बार कह चुके है कि यह सामाजिक बुराई है, इसमें अधिकांश मामले पास-पडोस के और संबंधियों के निकलते है। जब राज्य में बलात्कार की घटनायें लगातार हो रहीं थी, तब उनकों मोहल्ला समितियों के गठन की याद क्यों नहीं आई। शिवराजसिंह चैहान केवल राज्य की भोली-भाली जनता को भ्रम में रखकर 15 वर्षों तक ठगते रहें।
श्रीमती ओझा ने कहा कि मध्यप्रदेश में जब शिवराजसिंह की सरकार थी, तब प्रदेश में 47 हजार बलात्कारों के बाद भी मोहल्ला समितियों के गठन का उन्हें ख्याल नहीं आया। शिवराजसिंह का सामाजिक पहलुओं पर और इस गंभीर समस्या के निराकरण पर कभी रूचि नहीं रही, बल्कि वे राजनैतिक गुणा-भाग में लगे रहे। वे सत्ता के नशे में चूर रहें और मध्यप्रदेश को महिला अपराध के मामले में देष में पहले नंबर पर लाने में तबदील कर गये।
श्रीमती ओझा ने कहा कि शिवराज सिंह चैहान बाकई बच्चियों के हम दर्द हैं तो वे मोहल्ला समितियों के गठन के विषय पर सभी राजनैतिक दलों के नेताओं और प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री कमनलाथ जी से इस विषय पर चर्चा करें। श्रीमती ओझा ने कहा कि सामाजिक बुराई के खिलाफ कमलनाथ सरकार द्वारा भविष्य में सकारात्मक अभियान चलाया जायेगा, तो इस सामाजिक चेतना के कार्य में शिवराजसिंह चैहान से सहयोग करेंगे क्या?

अपराध और भाजपा का चोली दामन का साथ देश हो या प्रदेश

मध्यप्रदेष कांग्रेस कमेटी मीडिया विभाग की अध्यक्ष श्रीमती शोभा ओझा ने कहा कि कांग्रेस पर अपराधीकरण को बढ़ावा देने की बात कहने वाली भाजपा और उसके नेता, अनर्गल अरोपों के द्वारा अपनी बात को सिद्ध नहीं कर सकते हंै, सभी जानते है कि देष हो या प्रदेष, हर स्तर पर हर जगह, भारतीय जनता पार्टी के नेताओं का नाम ही अधिकांष आपराधिक मामलों में लिप्त पाया जा रहा है। अब जबकि 6 माह पहले ही मध्यप्रदेष में कांग्रेस की सरकार बनी है, वह प्रदेष में पिछले 15 वर्षों से चले आ रहे जंगलराज को उखाड़ फेकने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है और पिछले महीने जारी अपराधों के आंकड़े भी, आपराधिक मामलों में कमी की बात की पुष्टि करते हैं। भाजपा नेताओं के अनर्गल बयानों के संदर्भ में उपरोक्त जवाब देते हुए श्रीमती ओझा ने कहा कि देष में हर जगह जहां भी बड़े अपराध घटित हो रहे हैं, वहां अधिकांष मामलों में या तो भाजपा के नेता लिप्त हैं या उनके संरक्षण में आपराधिक घटनाओं को अंजाम दिया जा रहा है।

Previous
Next

© 2015 Rajkaaj News, All Rights Reserved || Developed by Workholics Info Corp


Warning: Invalid argument supplied for foreach() in /srv/users/serverpilot/apps/rajkaaj/public/news/footer1.php on line 120
Total Visiter:0

Todays Visiter:0