20-Nov-2018

 राजकाज न्यूज़ अब आपके मोबाइल फोन पर भी.    डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लीक करें

नव-मतदाता शहडोल और मध्यप्रदेश की तरक्की का मार्ग प्रशस्त करेंगे- चौहान

Previous
Next

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद नंदकुमार सिंह चौहान ने शहडोल संसदीय क्षेत्र के जयसिंहनगर, गोपारू, खतबई और शहडोल नगर में नव-मतदाताओं, युवा मोर्चा की एक वृहत रैलियों को संबोधित करते हुए कहा कि शहडोल संसदीय उपचुनाव की एहमियत को समझें। लोकतंत्र में नव-मतदाताओं को प्रथम बार मतदान करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है। उन्हें सोच-समझकर ऐसे व्यक्ति को चुनना है, जो शहडोल और मध्यप्रदेश की आवाज बनकर तरक्की का मार्ग प्रशस्त कर सके। भारतीय जनता पार्टी ने लोकसभा दिल्ली में शहडोल और मध्यप्रदेश की आवाज बुलंद करने के लिए वरिष्ठ, परिपक्व राजनेता ज्ञान सिंह को प्रत्याशी बनाया है। उन्हें राजनीति का अनुभव है, शासन-प्रशासन की समझ है। उनके नेतृत्व में शहडोल आदिवासी बहुल अंचल प्रगति के नये क्षितिज का स्पर्श करेगा।

उन्होनें कहा कि यही मध्यप्रदेश एक दशक पहले बीमारू राज्य था, जिसे भारतीय जनता पार्टी ने सत्ता में आने के बाद देश का सर्वोत्कृष्ट प्रगतिशील राज्य बनाया है। विकास दर दहाई में और कृषि विकास दर 20 प्रतिशत की निरंतरता के साथ आगे बढ़ाया है। उन्होनें कहा कि विकास भाजपा का राजनैतिक मूलमंत्र है। चंबल और बुंदेलखंड, विंध्य प्रदेश में जहां दस्यु आतंक था और खेतों में बारूदी गंध थी, वहां आज स्वर्णिम फसल की बालियां अपनी सौंधी सुगंध फैला रही है। प्रदेश से दस्यु आतंक का खात्मा हो चुका है। उपचुनाव ऐसा अवसर है कि नौजवान साथी अपनी संसदीय क्षेत्र और प्रदेश को प्रगति के मार्ग पर आगे बढ़ायेंगे।

उन्होनें कहा कि प्रदेश में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में पिछले 11 वर्षों में जितना काम हुआ है, उतना आजादी के बाद कांग्रेस शासन के 5 दशकों में भी नहीं हुआ। देश में मध्यप्रदेश विद्युत के क्षेत्र में सरप्लस राज्य बना है। सड़कें, अस्पताल, महाविद्यालय खुले है। पहले शहडोल से रीवा का सफर दुर्गम था, 8 घंटे की कष्टदायी यात्रा थी, सड़कों की पहचान गड्ढों से होती थी। भारतीय जनता पार्टी सरकार ने सड़कों का जाल बिछाकर शहडोल-रीवा के सफर को 3 घंटे की आरामदेह यात्रा में बदला है। श्री ज्ञान सिंह तरक्की पसंद राजनेता है, दूरदर्शी है। जनता के दुःख-दर्द में सहभागी बनते है, वे सहज-सुलभ है। उनका सांसद के रूप में निर्वाचन इस क्षेत्र के लिए वरदान साबित होगा। उन्होने कहा कि सिमी आतंकवादी खंडवा जेल को तोड़कर भागे उन्हें भोपाल के सुरक्षित कारागार में रखा गया, लेकिन दिवाली की रात उन्होनें बर्बरतापूर्वक जेल में मुख्य आरक्षक की हत्या कर दी और एक साथ 8 सिमी आतंकवादी भाग निकले।                              

राज्य सरकार ने अलर्ट घोषित कर पुलिस को चौकस किया और आठ घंटे में एनकाउंटर में उनका काम तमाम कर दिया गया। यदि चूक होती तो वे प्रदेश की जनता के लिए खतरनाक साबित हो सकते थे। सरकार विपक्ष और जनता के निशाने पर होती। लेकिन सिमी आतंकवादियों के मारे जाने पर कांग्रेस विधवा विलाप कर रही है। उन्हें प्रदेश की जनता की सुरक्षा की चिंता नहीं है, उन्हें तो सिर्फ वोटों की चिंता है। ऐसा करके वे कौम का अपमान कर रहे है। दरअसल, आतंकवादी का न तो मजहब होता है और न वे इंसानियत में विश्वास रखते है। आतंकवादी इंसानियत के दुश्मन है। देश और समाज के दुश्मन है। उनके प्रति कांग्रेस की दिखाऊ संवेनदशीलता जाहिर करती है कि अब कांग्रेस के पास न तो विकास की दृष्टि है और न मुद्दा है, वे तुष्टीकरण को ही अपनी विजय का हथियार मान बैठे है। जनता इस उपचुनाव में कांग्रेस को सबक सिखायेगी।

इस अवसर पर विधायक श्रीमती प्रमिला सिंह, केके श्रीवास्तव, गिरधर प्रसाद, बद्रीप्रसाद तिवारी, सुंदर सिंह, बने सिंह, श्रीमती कविता सिंह, योगेन्द्र चतुर्वेदी, राजेश चतुर्वेदी, उत्तम पयासी एवं जमुना प्रसाद मिश्रा सहित जिला पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Previous
Next

© 2015 Rajkaaj News, All Rights Reserved || Developed by Workholics Info Corp

Total Visiter:6883886

Todays Visiter:3238