05-Jun-2020

 राजकाज न्यूज़ अब आपके मोबाइल फोन पर भी.    डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लीक करें

प्रदेश में हर स्थान पर हो रहा कोरोना वायरस की स्थिति में सुधार

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने की व्यवस्थाओं की समीक्षा
कोरोना संकट से बड़ा है हमारा हौसला : मुख्यमंत्रीरी चौहान

भोपाल : बुधवार, अप्रैल 1, 2020, जबलपुर सहित प्रदेश के अन्य सभी स्थानों पर कोरोना के मरीजों की स्थिति में सुधार हुआ है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने स्वास्थ्य विभाग सहित कोरोना संकट में कार्य कर रहे सभी विभागों के अमले का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि उनके अथक परिश्रम तथा जनता के सहयोग से हम इस संकट पर जल्दी काबू पा लेंगे। मुख्यमंत्री आज मंत्रालय में कोरोना संकट की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे। श्री चौहान ने प्रत्येक विषय की सूक्ष्म मॉनीटरिंग और अधिकारियों से गहन चर्चा कर प्रभावी क्रियान्वयन के निर्देश दिए।

जबलपुर में सभी 8 मरीज सामान्य

समीक्षा के दौराना बताया गया कि जबलपुर के सभी 8 कोरोना मरीज सामान्य हैं तथा इन्हें 14 दिन की निर्धारित अवधि होने पर टेस्ट के बाद घर भिजवा दिया जाएगा। ग्वालियर के दोनों मरीज सामान्य हैं। एक मरीज अभिषेक मिश्रा का टेस्ट नेगेटिव आया है तथा दूसरा मरीज भी ठीक हैं। भोपाल के चारों मरीज अच्छी हालत में हैं तथा शिवपुरी के दोनों मरीज ठीक हैं। इंदौर के 63 मरीज भी ठीक हालत में हैं।

अभियान में तैनात लोग लें हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिये कि जो भी अमला कोरोना कार्य में लगा हुआ है, उन सभी को हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन टेबलेट, आईसीएमआर की अनुशंसा अनुसार खिलाई जाए। प्रदेश में पर्याप्त संख्या में यह टेबलेट उपलब्ध है। बताया गया कि वर्तमान में इसका सवा दो लाख का स्टॉक है तथा रतलाम में यह टेबलेट बड़ी मात्रा में बन रही है।

लाखों लोगों को प्रतिदिन नि:शुल्क भोजन

प्रमुख सचिव खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति श्री शिव शेखर शुक्ला ने बताया कि हेल्पडेस्क के माध्यम से जरूरतमंदों को पर्याप्त भोजन प्रदाय किया जा रहा है। प्रदेश में विभिन्न माध्यमों से प्रतिदिन लाखों व्यक्तियों को निःशुल्क भोजन कराया जा रहा है। उचित मूल्य राशन का उठाव 95 प्रतिशत है। इसके अलावा, प्रदेश के बाहर फंसे प्रदेश के लोगों को भी खाद्यान्न एवं भोजन आदि उपलब्ध कराया जा रहा है। सूरत, गोवा, पुणे में प्रदेश के लोग बड़ी संख्या में फंसे हुए हैं। उनके मध्यप्रदेश में रह रहे परिवारों का भी ध्यान रखा जा रहा है। आवश्यकता के अनुसार उन्हें खाद्य सामग्री, दवाएँ आदि दिलवाई जा रही हैं।

लॉकडाउन का प्रभावी पालन

पुलिस महानिदेशक श्री विवेक जौहरी ने बताया कि प्रदेश में लॉकडाउन का प्रभावी पालन हो रहा है। इस कार्य में जनता का भी पूरा सहयोग प्राप्त हो रहा है।

टेलीमेडिसिन से भी इलाज

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इलाज के कार्य में प्राइवेट डॉक्टर्स का भी पूरा सहयोग लिए जाने के निर्देश दिए हैं। प्रमुख सचिव श्री संजय दुबे ने बताया कि टेलीमेडिसिन के माध्यम से सामान्य रोगों के इलाज की व्यवस्था की जा रही है। इसके लिए देशभर के लगभग 3000 डॉक्टर्स चिन्हित किए गए हैं।

राज्य सरकार ने हर वर्ग को ऑनलाइन पहुँचाई है राहत

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना संकट बड़ा है, लेकिन हमारा हौसला उससे भी कहीं अधिक बड़ा है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में कोरोना पर नियंत्रण के लिए जाँच, उपचार और आइसोलेशन की सभी व्यवस्थाएँ सुनिश्चित की गई हैं। राज्य सरकार ने नागरिकों को जरूरी सुविधाएं उपलब्ध करवाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। प्रदेश में निचले स्तर तक इसके इलाज के लिये अस्पताल चिन्हांकित किए गए हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने  कोरोना के विरुद्ध  जारी लड़ाई में आमजन से अधिकाधिक सहयोग की अपील करते हुए विश्वास व्यक्त किया है कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में कोराना के विरूद्ध  जारी युद्ध में आप सभी के सहयोग से विजय अवश्य प्राप्त होगी।

किसानों से पूरा गेहूँ खरीदा जाएगा, चिंतित न हों

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किसानों को बताया है कि उपार्जन को फिलहाल स्थगित करते हुए नए शेड्यूल के अनुरूप व्यवस्था की जा रही है। इसकी जानकारी शीघ्र ही अलग से दी जाएगी।  उन्होंने बताया कि खेतों में फसल कटाई कार्य में कोई व्यवधान न हो, इसके लिए भी आवश्यक व्यवस्थाएं की गई हैं।   हार्वेस्टर्स  के परिवहन को कहीं रोका नहीं जाएगा।  श्री चौहान ने किसानों को आश्वस्त किया कि वे निश्चिंत रहें, कतई चिंतित न हों, उनका पूरा गेहूं खरीदा जाएगा। अन्य उत्पादन खरीदने की व्यवस्था भी राज्य सरकार करेगी।

आइसोलेशन का महत्व समझें, परिवार के साथ बिताएं समय

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इस रोग को यदि हम फैलने से रोकना चाहते हैं, तो आइसोलेशन  बहुत आवश्यक है। इसका महत्व सभी समझें।राज्य सरकार ने स्थानीय प्रशासन को निर्देश दिए हैं कि  दूध, आटा और अन्य सभी  आवश्यक वस्तुएं उपलब्ध करवाएं। लोग लॉक डाउन में परिजनों के साथ समय बिताएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि आमजन इस दौर को भी जियें। बच्चों के साथ घर में सुरुचिपूर्ण टीवी कार्यक्रम देखें, योग करें। बचाव  के इन उपायों से हम कोराना को अवश्य पराजित कर देंगे।

समाज के हर वर्ग को दी गई है राहत

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया है कि इस संकट की घड़ी में समाज के सभी वर्गों को राहत दी गई है। उन्होंने कहा कि राज्य के गरीब परिवारों को एक माह का राशन नि:शुल्क प्रदान किया जा रहा है। सहरिया, बैगा और भारिया जनजाति के परिवारों को दो माह की एडवांस सहायता राशि भेजी जा रही है। श्रमिकों को एक हजार रुपए की सहायता दी जा रही है। किरायेदारों से मकान मालिकों द्वारा अभी  किराया नहीं लिये जाने के निर्देश दिए गए हैं। फैक्ट्री श्रमिकों को भी वेतन और मानदेय देने के निर्देश दिये गये हैं।

जाँच, उपचार और आइसोलेशन के पूर्ण प्रबंध

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेशवासियों से कहा कि आप सभी लोग लॉक डाउन का पूरी तरह पालन करें। अपने परिवार के हित में घर से  बिल्कुल बाहर ना निकलें। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण रोकने के लिए सबसे पहले किसी संदिग्ध व्यक्ति के पाए जाने पर जाँच होती है। इसके बाद उपचार की व्यवस्था। संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने वालों को क्वॉरेंटाइन में रहने का परामर्श दिया जाता है। श्री चौहान ने कहा कि संक्रमित व्यक्ति को अन्य व्यक्तियों से संपर्क नहीं करना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि आम जनता कतई चिंतित ना हो। यह संकट शीघ्र समाप्त हो जाएगा। राज्य सरकार ने जाँच, उपचार और आइसोलेशन के पूर्ण प्रबंध किये हैं।

ऑनलाइन सेवाएं बनी राहत का माध्यम

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि कोरोना की समस्या के कारण लॉक डाउन की व्यवस्था के चलते जन-जीवन प्रभावित न हो, इसलिये ऑनलाइन सेवाओं का उपयोग किया जा रहा है। ये सेवाएं बड़ी राहत का सशक्त माध्यम बन गई हैं। मुख्यमंत्री ने बताया कि करीब 52 लाख विद्यार्थियों के खातों में विभिन्न छात्रवृति योजनाओं की 430 करोड रुपये की राशि ट्रांसफर की जा चुकी है। मध्यान्ह भोजन योजना में 66 लाख 27 हजार विद्यार्थियों के बैंक खातों में 117 करोड़ रुपये खाद्य सुरक्षा भत्ता भी ट्रांसफर कर दिया गया है। मध्यान्ह भोजन योजना के रसोइयों के लिए भी दो-दो  हजार रुपए की राशि दे दी गई है। प्रोफेशनल टैक्स, संपत्ति कर, केसीसी (किसान क्रेडिट कार्ड) आदि की राशि जमा करने की तिथि बढ़ाकर 30 अप्रैल कर दी गई है। मध्यप्रदेश भवन एवं संनिर्माण कर्मकार मंडल के  8 लाख 85 हजार 89 पंजीकृत निर्माण श्रमिकों के बैंक खाते में 88 करोड़ से अधिक की सहायता राशि ट्रांसफर की जा चुकी है।

प्रधानमंत्री द्वारा बताई लक्ष्मण रेखा न लांघें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कोरोना समस्या के संदर्भ में  शहरों में विशेष रूप से लॉक डाउन का पूर्णतः पालन कराने, लोगों को घरों से ना निकलने और अपने परिवार को पूरा समय देने की सलाह दी है। श्री चौहान ने इंदौर का उदाहरण देते कहा है कि समस्या बड़ी हो सकती है लेकिन हमारा हौसला उससे भी बड़ा है। सावधानियां भी बहुत जरूरी हैं।  मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री ने जिस लक्ष्मण रेखा की बात की है उसे न लांघें। निश्चित ही हमारे प्रयास पूरी तरह सफल होंगे। हम जीतकर रहेंगे।


मुख्यमंत्री को सहायता कोष के लिये 5 लाख का चैक भेंट

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान को आज  शॉपर्स कंस्ट्रक्शन की ओर से  कोरोना से बचाव कार्यों के लिए मुख्यमंत्री सहायता कोष में 5 लाख रुपए का चैक  भेंट किया गया। इस अवसर पर पूर्व मंत्री श्री विश्वास सारंग और कम्पनी के प्रतिनिधि श्री भारत शुक्ला, श्री प्रदीप प्रकाश और श्री राजीव शुक्ला उपस्थित थे।

Previous
Next

© 2015 Rajkaaj News, All Rights Reserved || Developed by Workholics Info Corp


Warning: Invalid argument supplied for foreach() in /srv/users/serverpilot/apps/rajkaaj/public/news/footer1.php on line 120
Total Visiter:0

Todays Visiter:0