16-Nov-2018

 राजकाज न्यूज़ अब आपके मोबाइल फोन पर भी.    डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लीक करें

वाजपेयी के निधन पर केंद्रीय कैबिनेट ने व्यक्त किया शोक

Previous
Next

अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर PAK, US, चीन से आए शोक संदेश

नई दिल्लीः केंद्रीय कैबिनेट ने आज पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर शोक व्यक्त किया। आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी। आज शाम वाजपेयी का निधन हुआ। परंपरा के मुताबिक, कैबिनेट ने एक प्रस्ताव पारित कर पूर्व प्रधानमंत्री एवं भाजपा के दिग्गज नेता के निधन पर शोक व्यक्त किया।

जब बड़े नेताओं का निधन होता है तो कैबिनेट की बैठक करके उनके निधन पर शोक व्यक्त किया जाता है और इस बाबत प्रस्ताव पारित किया जाता है। सूत्रों ने बताया कि कैबिनेट की बैठक में कुछ देर के लिए मौन भी धारण किया गया। कल राजकीय सम्मान के साथ वाजपेयी का अंतिम संस्कार किया जाएगा और सभी केंद्रीय कार्यालयों में आधे दिन का अवकाश होगा।

सरकार ने दिवंगत नेता के प्रति सम्मान प्रर्दिशत करते हुए सात दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है। केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से जारी एक सर्कुलर में कहा गया कि आज से सात दिनों तक पूरे देश में राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा। इसमें कहा गया है, ‘‘दिवंगत वाजपेयी के सम्मान में यह निर्णय लिया गया है कि पूरे भारत में 16 अगस्त से 22 अगस्त तक सात दिनों का राष्ट्रीय शोक रहेगा।’’

गृह मंत्रालय ने कहा,‘‘ इस अवधि के दौरान राष्ट्रीय ध्वज पूरे भारत में आधा झुका रहेगा। राष्ट्रीय शोक की अवधि के दौरान कोई आधिकारिक समारोह भी आयोजित नहीं होगा।’’ विदेशों में सभी भारतीय मिशनों में भी अंतिम संस्कार के दिन राष्ट्र ध्वज आधा झुका रहेगा।

साभार- पंजाब केेसरी

अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर PAK, US, चीन से आए शोक संदेश

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का लंबी बीमारी के बाद गुरुवार शाम 05:05 बजे एम्स में निधन हो गया. उनके निधन की खबर तेजी से भारत समेत दुनिया भर में फैल गई. पूरे हिंदुस्तान में शोक की लहर दौड़ पड़ी. केंद्र सरकार ने सात दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित कर दिया.

अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर अमेरिका, चीन, बांग्लादेश, ब्रिटेन, नेपाल और जापान ने दुख जताया है. पाकिस्तान के भावी प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी उनके निधन पर शोक जाहिर किया है.

इमरान खान ने कहा, 'अटल बिहारी वाजपेयी महाद्वीप में बड़ी राजनीतिक शख्सियत थे. भारत-पाक रिश्तों को बेहतर करने की उनकी कोशिशों को हमेशा याद रखा जाएगा. विदेश मंत्री रहते हुए वाजपेयी ने दोनों देशों को संबंधों को सुधारने की जिम्मेदारी उठाई थी. '

भारत में चीन के राजदूत लुयो झाओहुई ने ट्वीट किया, 'सम्मानित अटल बिहारी वाजपेयी के निधन से गहरा दुख पहुंचा है. चीन और भारत के संबंधों को मजबूत करने में उनके अहम योगदान को हम कभी नहीं भूलेंगे.'

चीनी राजदूत ने कहा, 'वाजपेयी ने चीन के तीन पीढ़ियों के नेताओं से मुलाकात की. साल 2003 में प्रधानमंत्री के रूप में अपनी चीन यात्रा के दौरान वाजपेयी ने सीमा विवाद को सुलझाने के लिए मेकैनिज्म बनाने का प्रस्ताव दिया था. साथ ही इंडियन स्टाइल के एक बौद्ध टेंपल को चीन के लुओयांग सिटी में दान किया था.'

चीनी राजदूत ने अटल बिहारी वाजपेयी की तस्वीरें भी साझा की है. वाजपेयी के निधन पर अमेरिका और बांग्लादेश ने भी गहरा दुख जताया है.

भारत स्थित अमेरिकी दूतावास ने कहा, 'पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने अपने शासनकाल में अमेरिका के साथ मजबूत भागीदारी की हिमायत की. उन्होंने अमेरिका को स्वाभाविक सहयोगी बताया था. पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी के परिजनों और भारत के नागरिकों के प्रति अमेरिकी मिशन अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता है.

अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर बांग्लादेश ने भी गहरा शोक जताया है. बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने कहा कि भारत के सबसे मशहूर पुत्रों में से एक अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर गहरा दुख है. उनको सुशासन, क्षेत्रीय शांति और समृद्धि के लिए योगदान देने के लिए याद रखा जाएगा.

जापान के राजदूत हिरामत्सु ने अपने शोक संदेश में कहा, 'मैं पूर्व पीएम और भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी के निधन से बेहद दुखी हूं. वो हमारे समय के सबसे ज्यादा प्रेरणा देने वाले वैश्विक नेताओं में से एक थे.'  उन्होंने कहा कि वाजपेयी की पहले से ही जपान और भारत के रिश्ते उच्चस्तर पर पहुंचे हैं. ऐसे महान नेता का निधन सिर्फ भारत ही नहीं, बल्कि जापान, एशिया समेत अंतरराष्ट्रीय समुदाय के लिए बड़ी क्षति है.

भारत में ब्रिटेन के हाई कमिश्नर ने कहा, 'भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन से हम बेहद दुखी हैं. हम उनको भारत के सबसे महान नेताओं में से एक नेता के रूप में याद करेंगे. एक राष्ट्राध्यक्ष के रूप में उनका ब्रिटेन में भी काफी सम्मान था.'

साभार- आज तक

Previous
Next

© 2015 Rajkaaj News, All Rights Reserved || Developed by Workholics Info Corp

Total Visiter:6861935

Todays Visiter:2786