20-Nov-2018

 राजकाज न्यूज़ अब आपके मोबाइल फोन पर भी.    डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लीक करें

भोपाल के बरकतउल्ला विवि में 29 बिहारी छात्रों को पीटा

Previous
Next

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के बरकतउल्ला विश्वविद्यालय में इंजीनियरिंग फर्स्ट इयर की पढ़ाई कर रहे  बिहारी छात्रों को  रैगिंग के नाम पर सीनियर छात्रों ने बुरी तरह से पीटा. दो छात्रों को गंभीर चोटें आयी हैं, जिनका इलाज भोपाल एम्स अस्पताल में चल रहा है. एक छात्र को डिस्चार्ज कर दिया.
 
घटना मंगलवार की रात 11:30 से एक बजे विवि के मुंशी प्रेमचंद्र हॉस्टल की है. पिटाई करनेवाले छात्र मध्य प्रदेश के रहनेवाले हैं और वे विवि में इंजीनियरिंग के सीनियर छात्र हैं. बड़ी बात तो यह है कि घटना के बाद अब तक किसी भी सीनियर छात्र पर कॉलेज प्रशासन ने कार्रवाई नहीं की है.
 
मारनेवालों में एबीवीपी के छात्र नेता भी
पीड़ित बिहारी छात्रों के मुताबिक जिन छात्रों ने रैगिंग ली है, उनमें विवि से पास आउट और एबीवीपी के छात्र नेता भी शामिल हैं. छात्र हिमांशु कुमार ने कहा कि हॉस्टल के पास बाग सेनिया स्थान से सीनियर शराब मंगवाते हैं और नहीं लाने पर पिटाई भी करते हैं.
 
बिहार का नाम सुनते ही करने लगे पिटाई
विवि के पीड़ित छात्रों ने पिटाई के बाद फोन के माध्यम से प्रभात खबर से संपर्क किया. भोजपुर जिले के रहनेवाले राजीव ने बताया कि मुंशी प्रेमचंद्र छात्रावास में रात को 29 बिहारी छात्रों को सीनियर छात्रों ने जम कर पिटाई कर दी. राजीव ने कहा कि मारपीट की मूल वजह मोबाइल चोरी थी. इसकी पूछताछ के लिए जूनियर छात्रों से परेड करायी गयी. उनसे पूछा गया कि वे कहां से हैं.
 
जैसे ही एक छात्र ने कहा कि वे बिहार से हैं, तो सीनियर ने पीटना शुरू कर दिया. इधर, छात्रों के कहने पर मौके पर पहुंची भोपाल पुलिस को प्रबंधन ने आंतरिक मामला बता कर रात को ही लौटा दिया. वहीं, पीड़ित छात्रों में भोजपुर, नवादा, गोपालगंज, बक्सर, दरभंगा, मोतिहारी, सारण, मधुबनी और समस्तीपुर जिलों के रहनेवाले हैं. नवादा जिले के रहनेवले मुकेश के कान का परदा फट गया है और उसका इलाज एम्स के इएनटी विभाग में चल रहा है, जबकि एक छात्र को डिस्चार्ज कर दिया गया. वहीं, बाकी छात्रों को हल्की चोटें आयी थीं. बीयू के कुलसचिव डॉ यूएन शुक्ला ने बताया िक हमारे कॉलेज में न तो क्षेत्रवाद होता है और न ही किसी छात्र को यह करने के लिए कहा जाता है. बिहारी छात्रों के साथ मारपीट मामले को लेकर मैंने डीन, वेलफेयर को जानकारी दे दी है. जो भी दोषी छात्र पाये जायेंगे, उन पर कड़ी कार्रवाई की जायेगी. छात्रों ने मुझे जानकारी भी दी है.
 
पीड़ित छात्र रोबिन चंद्र का कहना है कि सीनियर छात्र लाइन से सभी बिहारी छात्रों को हॉस्टल के बाहर कैंपस में खड़ा कर दिया और कहा कि तुम 29 छात्रों में से ही किसी एक ने मोबाइल चोरी की है. बिहार का नाम सुनते ही छात्र ताबड़-तोड़ पिटाई करना शुरू कर दी. बाल पकड़कर दीवार में सिर को लड़ाने लगे. इतना ही नहीं, इलाज के दौरान भी वे अस्पताल तक पहुंच गये और धमकी दी कि किसी ने शिकायत की, तो उनको और मारेंगे. नतीजा सभी छात्र डरे हुए हैं.

साभार: प्रभात खबर

Previous
Next

© 2015 Rajkaaj News, All Rights Reserved || Developed by Workholics Info Corp

Total Visiter:6883884

Todays Visiter:3236