17-Aug-2018

 राजकाज न्यूज़ अब आपके मोबाइल फोन पर भी.    डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लीक करें

सात साल पूर्व हुए मंत्रिमंडल निर्णय का नहीं हुआ पालन- अजय सिंह

सतना जिले के 44 गांव के किसानों की डूब से बाहर जमीन नहीं हुई अभी तक वापस
50 हजार से अधिक लोग मूलभूत सुविधाओं से वंचित
नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री तत्काल किसानों को उनकी जमीन वापस दिलाएं

भोपाल, 13 फरवरी 2018। नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से 7 वर्ष पहले मंत्रिमंडल द्वारा सतना जिले के बकिया बराज बांध के 44 गांवों की डूब से बाहर की गई जमीन वापस करने के निर्णय का पालन कराने की मांग की है। सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री ने पिछले 12 साल में जहां अपनी जुबान की कीमत खो दी है वहीं मंत्रिपरिषद जैसी महत्वपूर्ण संस्था की गरिमा को भी कम कर दिया है। सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री की अनदेखी से इन गांवों के 50 से अधिक लोग मूलभूत सुविधा से वंचित हैं। 
नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सतना जिले के बकिया बराज बांध प्रभावित किसानों के साथ छल कर रहे हैं। नेता प्रतिपक्ष ने कहा है कि 2011 में मंत्रिपरिषद की बैठक में बकिया बराज बांध प्रभावित किसानों को उनकी जमीन वापसी का प्रस्ताव पारित किया गया था लेकिन 7 वर्ष बीत जाने के बाद भी प्रदेश सरकार कैबिनेट के निर्णय को ही क्रियान्वित नहीं कर पायी। अजय सिंह ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह ने बंकिया बराज बांध की ऊँचाई को 2 मीटर कम कर दिया था। इससे 44 गांवों की जमीन डूब से बाहर हो गई थी। 
नेता प्रतिपक्ष सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा सतना भ्रमण के दौरान कई बार बांध प्रभावित किसानों को उनकी जमीन वापसी की घोषणा की गई लेकिन न तो किसानों को उनकी जमीन वापस की गई और न ही उनके मौलिक अधिकार। 
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि बांध प्रभावित 44 गांवों के किसानों की जमीन वापसी न होने से वे मूलभूत सुविधाओं से वंचित हैं। उन्होंने बांध प्रभावित किसानों को भरोसा दिलाया है कि प्रदेश सरकार अपने वादे के अनुसार अगर जमीन वापस नहीं करती तो कांग्रेस सरकार के बनते ही किसानों की जमीन वापसी के साथ उनकी मूलभूत सुविधाओं को बहाल किया जायेगा।

Previous
Next

© 2015 Rajkaaj News, All Rights Reserved || Developed by Workholics Info Corp

Total Visiter:6310407

Todays Visiter:5444