20-Nov-2018

 राजकाज न्यूज़ अब आपके मोबाइल फोन पर भी.    डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लीक करें

प्रधानमंत्री ने आमजन की जिन्दगी को आसान बनानें के लिए समस्याओं का समाधान किया- चौहान

Previous
Next

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद नंदकुमार सिंह चौहान ने कहा कि विमुद्रीकरण की धमक का सारे समाज को अहसास हुआ है। राजनैतिक वर्ग की कुछ चले जाने की पीड़ा भी जनसामान्य की सहानुभूति नहीं हासिल कर पायी। क्योंकि आम आदमी को विमुद्रीकरण से देश को होने वाले व्यापक लाभ की संभावनाएं प्रबलतर दिखाई दी। देश की जनता ने विमुद्रीकरण के 50 दिनों में जो धैर्य और साहस दिखाया, उसके लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हर वर्ग की जनता के प्रति आभार जताया है। उनकी जिन्दगी को आसान बनानें के लिए ज्वलंत समस्याओं का दिल खोलकर समाधान किया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने ढ़ाई वर्षों के कार्यकाल में इनीशिएटिव फैसले लिए, जिनका जनजीवन पर स्थायी असर परिलक्षित हुआ है।

उन्होनें कहा कि जहां प्रधानमंत्री ने कमजोर वर्ग के लिए नये प्रोत्साहनों का ऐलान किया, वहीं कालाधन और भ्रष्टाचार के विरोध में आरंभ अभियान को धर्मयुद्ध के रूप में पूर्ण तन्मयता के साथ जारी रखने का आव्हान किया। श्री मोदी जी ने ढ़ाई वर्षों में देश को जो उपलब्धियां दी है, उससे आत्ममुग्धता से परे उन्होनें आने वाले दिनों में जनता की जिन्दगी में सकून लाने की गंभीर चिंता व्यक्त की है। समाधान के लिए ठोस कदम उठाया है।

चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री मानते है कि कृषि प्रधान देश में किसान ही अर्थव्यवस्था का मेरूदंड है। किसान को कर्ज पर लगने वाले ब्याज में 60 दिन के ब्याज की भरपाई हेतु नाबार्ड को 20 हजार करोड़ रू. स्वीकृत कर दिये है। किसान क्रेडिट कार्ड को रूपे कार्ड में बदले जाने, लघु उद्योग के लिए क्रेडिट गारन्टी एक करोड़ रू. से बढ़ाकर दो करेाड़ रू. करके उन्होनें लघु कुटीर उद्योगों के प्रोत्साहन के जरिये बेरोजगारी पर प्रहार किया है। प्रधानमंत्री ने संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देने और शिशु-मातिृका कल्याण को गति देने के लिए देश के सभी 650 से अधिक जिलों में गर्भिणी माताओं को 6-6 हजार रू. मंजूर किये है। जो गर्भवती महिला के खाते में सरकारी अस्पतालों में पंजीकरण के साथ ही जमा हो जायेंगे। यह महिला सशक्तीकरण के लिए नायाब तोहफा सिद्ध होगा।

उन्होनें कहा कि जीवन की संध्या में वरिष्ठजन की आय का नया जरिया प्रधानमंत्री ने उनकी बचत को बना दिया है। वरिष्ठ नागरिक अपनी बचत साढ़े सात लाख रू. तक 10 वर्ष के लिए जमा करके 8 प्रतिशत ब्याज प्राप्त कर आनंद से गुजारा कर सकते है। देखा जाता है कि फिक्सड डिपाजिट पर ब्याज घटता रहता है, बुजुर्गों को 8 प्रतिशत ब्याज स्थिर रहेगा। उन्‍होंने कहा कि 1969 में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने बैंको का राष्ट्रीयकरण जिस उद्देश्य से किया था, उस उद्देश्य को साढ़े चार दशक बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जन-धन योजना में आम आदमी का जीरो बैलेंस पर खाता खोलकर पूरा किया है। विमुद्रीकरण के बाद इन्हीं खातों में अब डायरेक्ट बेनीफिट ट्रांसफर होने से हितग्राहियों को बैंक खातेदार होने का गौरव हासिल हो गया है और बिचैलियों से मुक्ति मिली है। सब्सीडी और अन्य लाभ इन्हीं खातों में जमा हो जायेगा। उसे यहां-वहां चक्कर काटने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।
 
रसोई गैस चूल्हें ने लकड़ी ईंधन की किल्लत से मुक्ति दिलाई- ठाकुर

भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश उपाध्यक्ष, विधायक सुश्री ऊषा ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री उज्जवला योजना ने गृहणी महिलाओं को स्वास्थ्यप्रद जीवन का वरदान दिया है और उन्हें लकड़ी के ईधन चूल्हें से निकलने वाले धुंआ से मुक्ति मिल गयी है। मध्यप्रदेश में 17 लाख परिवारों को प्रधानमंत्री उज्जवला योजना में मुफ्त रसोई गैस चूल्हे परिवार की महिला सदस्य के नाम आवंटित करके प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने गौरवान्वित किया है। देश में 5 करोड़ परिवारों को यह सुविधा आने वाले दो वर्षों में उपलब्ध कर दी जायेगी। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के लिए 8 हजार करोड़ रू. का बजट मंजूर किया है। देशभर में डेढ़ करोड़ गैस चूल्हे वर्ष 2016-17 में वितरित किये जाने थे, जो समय के पूर्व ही आवंटित किये जा चुके है।

उन्होनें बताया कि मध्यप्रदेश में जहां 17 लाख रसोई गैस चूल्हे वितरित किये गये है, सर्वाधिक 46 लाख गैस चूल्हे उत्तर प्रदेश में बीपीएल परिवारों को दिये गये है। पश्चिम बंगाल और बिहार को 19-19 लाख एवं राजस्थान में 14 लाख गैस चूल्हे वितरित किये गये है। यह क्रम जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश नार्थ-ईस्ट सहित अन्य प्रदेशों में जारी जारी रखा गया है। आगामी दो वर्षों में 5 करोड़ चूल्हें वितरण का लक्ष्य पूर्ण कर लिया जायेगा।


5 जनवरी को बी-3, 74 बंगला में श्रृद्धांजलि सभा

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री स्व. सुन्दरलाल पटवा को श्रद्धासुमन अर्पित करने के लिए 5 जनवरी को संध्या 4 बजे बी-3, 74 बंगले में श्रृद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया है। पटवा का निधन 28 दिसंबर को हो गया था एवं उनका अंतिम संस्कार कुकड़ेश्वर में संपन्न हुआ था। पार्टी कार्यकर्ता, हितचिंतक 5 जनवरी को सायं 4 बजे 74 बंगला स्थित बी-3 निवास पर आयोजित श्रृद्धांजलि सभा में स्व. पटवा जी को श्रृद्धासुमन अर्पित करेंगे।

ग्रामीण अंचल की ग्राम पंचायतों के चुनाव में जनता ने विमुद्रीकरण पर सहमति की मोहर लगायी- शर्मा

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश महामंत्री विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि विमुद्रीकरण के प्रारंभिक दौर में नोटबंदी से आहत विपक्षी दलों ने जनता, किसानों, खेतिहरों और मजदूरों की दुश्वारियों का जोरदार बखान किया और उन्हें विमुद्रीकरण के विरोधी दस्ता बनानें की पुरजोर कोशिश की। लेकिन सांच को आंच नहीं। जनता को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की नीति और नीयत पर भरोसा था और उन्होनें विमुद्रीकरण का समर्थन किया।

Previous
Next

© 2015 Rajkaaj News, All Rights Reserved || Developed by Workholics Info Corp

Total Visiter:6883890

Todays Visiter:3242