20-Sep-2018

 राजकाज न्यूज़ अब आपके मोबाइल फोन पर भी.    डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लीक करें

प्रदेश कांग्रेस पदाधिकारी, सांसद, विधायक, लोकसभा प्रत्याशी-14 एवं शहर-जिला कांग्रेस अध्यक्षों की संयुक्त बैठक

Previous
Next

भोपाल 02 जनवरी। प्रदेश कांग्रेस के संगठन प्रभारी महामंत्री चंद्रिका प्रसाद द्विवेदी ने बताया है कि 03 जनवरी, 2017 को प्रदेश कांग्रेस पदाधिकारी, सांसद / विधायक, लोकसभा प्रत्याशी-14 शहर/जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्षों की संयुक्त बैठक शिवाजी नगर स्थित प्रदेश कांग्रेस कार्यालय, इंदिरा भवन के सभागार में पूर्वान्ह 11 बजे से आहूत की गई है। उक्त बैठक की अध्यक्षता प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरूण यादव करेंगे। द्विवेदी ने बताया कि बैठक में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव (प्रदेश प्रभारी) मोहन प्रकाश, अभा कांग्रेस के सचिव राकेश कालिया जी विशेष रूप से उपस्थित रहेंगे। श्री यादव ने आमंत्रित प्रतिनिधियों को बैठक में अनिवार्य रूप से उपस्थित होने का आग्रह किया है।

भाजपा सरकार ने दिया नये साल में महंगाई का तोहफा: रवि सक्सेना 

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता रवि सक्सेना ने कहा कि नोटबंदी से महंगाई कम होगी का दावा करने वाली केंद्र की भाजपानीत मोदी सरकार ने एक ही झटके में रसोई गैस एवं पेट्रोल-डीजल के मूल्यों में भारी बढ़ोत्तरी कर अपने मंसूबे साफ कर दिये हैं कि अच्छे दिन का वादा मात्र जनता के साथ छलावा है। जुलाई 2016 से 1 जनवरी 2017 तक सब्सिडी वाले सिलेंण्डर की आठ बार कीमतें बढ़ाई जा चुकी हैं। जिससे गैस सिलेण्डर में 28 रूपये महंगा हो चुका है। 8 नवम्बर 2016 नोटबंदी की दिनांक से पेट्रोल-डीजल के भावों में तीन बार भारी बढ़ोत्री कर केंद्र सरकार लगातार देश की जनता की जेब काटने में लगी है।

सक्सेना ने कहा कि वहीं प्रदेश की भाजपा सरकार भी केंद्र के साथ कदम ताल कर जनता पर महंगाई का कहर ढाने में पीछे नहीं हैं, घरेलू बिजली की दरें लगातार फ्यूल सरचार्ज के नाम पर बढ़ाई जा रही हैं । अप्रैल 2016 से जनवरी 207 तक फ्यूल चार्ज के नाम पर 44 पैसे प्रति यूनिट बिजली के दाम बढा दिये गये हैं, जिससे बिजली के बिलों में भारी वृद्धि के कारण जनता हाहाकार कर रही है और सरकार अपने कानों में तेल डाले बिजली कंपनियों को मुनाफा कमाने की खुली छूट दे रही है। सक्सेना ने कहा कि केन्द्र और प्रदेश की भाजपा सरकार जनता पर लगातार महंगाई का बोझ डालती जा रही है, जिससे आम उपभोक्ता की कमर टूर रही है। जनता को संकट और आर्थिक परेशानियां पैदा करने वाले एक के बाद एक फरमान सरकार जारी करती जा रही है, जिससे देश की जनता दयनीय और आर्थिक तंगी की कगार पर आकर खड़ी हो गई है। केंद्र और राज्य सरकार ने महंगाई कम करने की दिशा में यदि कोई कारगर कदम नहीं उठाया तो देश और प्रदेश में जनता का आक्रोश सड़क पर फूट पड़ेगा और इन तानाशाही सरकारों को ध्वस्त कर देगा।

नये साल पर सरकार ने दिया जनता को तोहफा .....
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता श्रीमती विभा पटेल ने कहा कि पहले से मोदी सरकार ने नोटबंदी के तुगलकी फरमान की आर्थिक स्थिति की मार झेल रही देश और प्रदेश की जनता पर इस फरमान के भयावह 50 दिन पूरे होने के बाद एक माह में दो बार पेट्रोल-डीजल में बृद्धि किये जाने का दूसरा प्रहार किया गया है, जिससे जनता की कमर पूरी तरह टूट गई है। उन्होंने कहा कि जहां अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कूड आयल की कीमतें दिन पर दिन गिरती जा रही है, वहीं देश की जनता पर पेट्रोल-डीजल के दामों में बृद्धि कर उनके जेबों पर जबरन डांका डाला जा रहा है।

श्रीमती पटेल ने कहा कि प्रदेश में अब तक इतिहास में सबसे महंगा पेट्रोल-डीजल क्रमशः 78 और 66 रूपये प्रति लीटर बिक रहा है, राज्य और केंद्र सरकार इन दोनों ही उत्पादों पर 55 फीसदी टैक्स वसूल रही है, राज्य सरकार पेट्रोल पर 32 प्रतिशत टैक्स व तीन रूपये अतिरिक्त टैक्स वसूल रही है। इसके अलावा 23 प्रतिशत टैक्स केंद्र सरकार ले रही है, राज्य सरकार पिछले साल पेट्रोलियम पदार्थों के दामों में आई गिरावट के चलते अपना फायदा बढ़ाने के लिए पेट्रोल पर 31 और डीजल पर 27 प्रतिशत वैट बढ़ाने का फैसला लिया था, जिस पर 1-1 प्रतिशत एंट्री टेक्स भी सरकार वसूल रही है। जबकि राज्य सरकार ने पूर्व में कहा था कि पेट्रोल-डीजल के दामों में बृद्धि होगी तो सरकार अपना वैट टैक्स घटा देगी, जिससे जनता को राहत मिलेगी, लेकिन सरकार केवल अपना फायदा देख रही है।

Previous
Next

© 2015 Rajkaaj News, All Rights Reserved || Developed by Workholics Info Corp

Total Visiter:6514289

Todays Visiter:3147