22-Jul-2018

 राजकाज न्यूज़ अब आपके मोबाइल फोन पर भी.    डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लीक करें

अन्याय पर न्याय, असत्य पर सत्य की विजय, अहंकार के परित्याग का प्रतीक है विजयादशमी- चौहान, भगत

Previous
Next

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष, सांसद नंदकुमारसिंह चौहान और प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत ने विजयादशमी (दशहरा) के मांगलिक पर्व के अवसर पर पार्टी कार्यकर्ताओं और प्रदेश की जनता की मंगलकामना करते हुए सभी के स्वस्थ, सुखी एवं समृद्ध जीवन की कामना की है। उन्होंने कहा कि नवरात्रि के समापन का पर्व दशहरा भारत की संस्कृति परम्पराओं को समृद्ध बनाता है और अन्याय पर न्याय, असत्य पर सत्य की विजय का संदेश देता है कि अहंकार पतन की यात्रा का आरंभ है। हमें मिल-जुल कर देश और समाज को सशक्त बनाता है। परिवारों से समाज और देश बनता है।

उन्होंने कहा भारत की सांस्कृतिक परम्परा मानव मात्र के हित चिंन्तन की धुरी है। यही कारण है कि दशहरा जैसे पर्व ने देश काल की सीमा को लांघा है। दशहरा भारत का ही त्यौहार नहीं है।

21 वी सदी भारत की, प्रतिफल सामने, देश साफ्टस्टेट नहीं रहा- शर्मा

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश महामंत्री विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का यह कथन कि वर्ष 2016 का दशहरा कुछ विशेष है वास्तव में राष्ट्राभिमान, जन-जन की पुलकन की अभिव्यक्ति है। इस पर सवा अरब जनता अभिभूत है। आजादी के बाद पडोसी मुल्क ने बार-बार भारत भूमि को रक्त रंजित किया और भारत हमेशा क्षमाबड़न को चाहिए कि भावना से शांति और मित्रता की पींगे भरता रहा। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर जहां भारत की छवि साफ्टस्टेट की बनी वहीं इसे पड़ोसी ने भारत की दुर्बलता समझा। उरी की आतंकी घटना ने देश में आक्रोश का भाव जगा दिया और प्रधानमंत्री ने राजनैतिक इच्छाशक्ति का सबूत देकर सफल सर्जिकल स्ट्राइक कर देश की सैन्य शक्ति उसके शौर्य और पराक्रम का सबूत दिया। सर्जिकल स्ट्राइक से दोहरा लाभ हुआ। पड़ोसी के चेहरे पर पड़ा आतंकवाद का नकाब उतर गया।

Previous
Next

© 2015 Rajkaaj News, All Rights Reserved || Developed by Workholics Info Corp

Total Visiter:6127055

Todays Visiter:1509