13-Dec-2017

 राजकाज न्यूज़ अब आपके मोबाइल फोन पर भी.    डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लीक करें

स्वास्थवर्धक बेल फल...

Previous
Next
बेल को कई अन्य नामो से भी जाना जाता है बिल्व फल,शाण्डिल्रू, श्री फल,सदाफल आदि | इसका वनस्पति नाम Limonia acidissima है | बेल की संरचना नारियल के मुताबिक बहार से hard परन्तु अन्दर से मुलायम | बेल का आकार गोल होता है और इसका व्यास 5-15 cm तक होता है | इसका बहरी सतह चिकना होता है, और इसका रंग हल्का हरा होता है परन्तु पकने पर इसका रंग पिला हो जाता है | पके हुए फल को तोड़ने पर इसके अन्दर लसादार गुद्दा होता है जो खाने में स्वादिष्ट होता है | एक ऎसा फल है जो कई रोगों को दूर करनें के काम आता है। बेल के फल का गूदा और बीज पेट साफ करते हैं। बेल से शुगर को कंट्रोल किया जाता है।

आइये जाने बेल फल की अन्य उपयोगिताऐ :-

1 बेल से कफ व वात को भी खत्म किया जा सकता है। अतिसार, शुगर, खून की कमी, सफेद पानी की परेशानी और पीरियड्स में होने वाली एक्ट्रा ब्लीडिंग को कम करने में मदद करता है।

2 पके हुए बेल का शर्बत पुराने आंव की सबसे अच्छी दवा है। इसके सेवन से ये रोग बहुत जल्दी ही दूर हो जाता है ।

3 बेल का मुरब्बा खाने से पित्त व अतिसार में लाभ होता है। पेट के सभी रोगों में बेल का मुरब्बा खाने से लाभ मिलता है ।

4 दस ग्राम बेल के पत्तों को 4-5 कालीमिर्च के साथ पीसकर उसमे 10 ग्राम मिश्री मिलकर शरबत बना लें। इसका दिन में तीन बार सेवन करने से पेट दर्द ठीक हो जाता है ।

5 बेल के रस में कुछ बूंद घी मिलाले और इसका नियमित सेवन करने करे, यह हमारे शरीर में ब्लड शुगर को नियंत्रित कर हमारे दिल को स्वस्थ रखने में मदद करता है|

6 अगर आप गैस और कब्ज से लगातार परेशान है और इससे सच में छुटकारा पाना चाहते है तो बेल के रस का नियमित सेवन करे इससे कब्ज औरगैस से जल्द छुटकारा मिलेगा |


Previous
Next

© 2015 Rajkaaj News, All Rights Reserved || Developed by Workholics Info Corp

Total Visiter:4896379

Todays Visiter:1845